♦इस खबर को आगे शेयर जरूर करें ♦

मौत को दावत देती यात्रा. हादसों से बचने के लिये रोज़ होती हैं दुआएं

ग़ाज़ीपुर। जिले की मुहम्मदाबाद तहसील के ब्लॉक भांवरकोल के गांव बीरपुर और बारा के बीच गंगा नदी में नाव के माध्यम से यात्रा करने वाले यात्रियों का जोख़िम कम होने का नाम नहीं ले रहा है। जहां एक तरफ़ यात्री रोज़मर्रा की ज़िन्दगी में अपनी ज़रूरत के लिये जोख़िम भरी यात्रा के लिये विवश हैं तो दूसरी ओर प्रशासन भी हादसे का इंतजार में है। यात्रा के लिए कोई भी न नियम है और न ही कोई मानक। नाव पर सवारी के लिये कोई भी निर्धारित संख्या नहीं है। यहाँ तक कि लोग डगमगाती नाव पर मोटरसाइकिल तक लाद लेते हैं। इन सबके बीच प्रशासन भी अपनी आंखें बन्द किये हुए है. आये दिन नाव के पलटने और डूब कर मरने की खबरें प्रकाश में आती रहती हैं। यात्रियों का कहना है कि शासन प्रशासन को इस ओर ध्यान आकृष्ट करना चाहिये ताकि किसी भी हादसा एवं अनहोनी दुर्घटना से बचा जा सके।

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें




स्वतंत्र और सच्ची पत्रकारिता के लिए ज़रूरी है कि वो कॉरपोरेट और राजनैतिक नियंत्रण से मुक्त हो। ऐसा तभी संभव है जब जनता आगे आए और सहयोग करे

[responsive-slider id=1811]

जवाब जरूर दे 

आप अपने सहर के वर्तमान बिधायक के कार्यों से कितना संतुष्ट है ?

View Results

Loading ... Loading ...


Related Articles

Close
Close
Website Design By Bootalpha.com +91 82529 92275