♦इस खबर को आगे शेयर जरूर करें ♦

ध्यान से जीवन सुखमय- डॉक्टर कंचन जैन

रिपोर्ट- वसीम रज़ा

हमारी तेज़-रफ़्तार दुनिया में, खुशी अक्सर मायावी लगती है। हम बाहरी मान्यता और क्षणभंगुर सुखों का पीछा करते हैं, फिर भी स्थायी संतुष्टि की भावना निराशाजनक रूप से पहुंच से बाहर रहती है। हालाँकि, ध्यान आंतरिक शांति विकसित करने और खुशी के गहरे स्रोत को खोलने के लिए एक शक्तिशाली उपकरण प्रदान करता है।ध्यान कोई जादुई औषधि नहीं है, परंतु यह एक शक्तिशाली उपकरण है जो हमारी भलाई और खुशी को महत्वपूर्ण रूप से बढ़ा सकता है। मन को शांत करने और अपनी आंतरिक दुनिया का अवलोकन करने के लिए हर दिन कुछ मिनट भी समर्पित करके, हम आंतरिक शांति की भावना विकसित कर सकते हैं जो खुशी को भीतर से पनपने देती है। ध्यान के लाभ केवल अच्छा महसूस करने से कहीं आगे तक फैले हुए हैं। अध्ययनों से पता चला है कि ध्यान तनाव और चिंता को कम कर सकता है, जो खुशी के लिए दोनों प्रमुख बाधाएँ हैं। जैसे-जैसे हम अपने विचारों को देखने में अधिक कुशल होते जाते हैं, हम यह चुनने की क्षमता प्राप्त करते हैं कि हम उन पर कैसे प्रतिक्रिया करते हैं। यह हमें तनावपूर्ण स्थितियों में नकारात्मकता से घिरने के बजाय धैर्य के साथ प्रतिक्रिया करने की शक्ति देता है।ध्यान कृतज्ञता की भावना भी विकसित कर सकता है। वर्तमान क्षण पर ध्यान केंद्रित करके, हम जीवन की साधारण चीजों की सराहना करते हैं – हमारी त्वचा पर सूरज की गर्मी, फूल की सुंदरता या पक्षियों की चहचहाहट। यह प्रशंसा संतोष की भावना पैदा करती है और ऐसी खुशी को बढ़ावा देती है जो बाहरी परिस्थितियों पर निर्भर नहीं होती। ध्यान का अर्थ पूर्ण आनंद की स्थिति प्राप्त करना नहीं है। इसके बजाय, यह हमारे विचारों और भावनाओं के प्रति अधिक जागरूक होने के लिए मन को प्रशिक्षित करने के बारे में है, बिना उनके बह जाने के। बस अपने मानसिक चंचलता को देखकर, हम नकारात्मकता से अलग होना और वर्तमान क्षण की सराहना करना सीख सकते हैं। यह सचेत जागरूकता शांति और स्वीकृति की भावना को बढ़ावा देती है, जो खुशी के लिए महत्वपूर्ण तत्व हैं।

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें




स्वतंत्र और सच्ची पत्रकारिता के लिए ज़रूरी है कि वो कॉरपोरेट और राजनैतिक नियंत्रण से मुक्त हो। ऐसा तभी संभव है जब जनता आगे आए और सहयोग करे

[responsive-slider id=1811]

जवाब जरूर दे 

आप अपने सहर के वर्तमान बिधायक के कार्यों से कितना संतुष्ट है ?

View Results

Loading ... Loading ...


Related Articles

Close
Close
Website Design By Bootalpha.com +91 82529 92275